कोटद्वार: देश की राजधानी दिल्ली से कोटद्वार के बीच सिद्धबली जनशताब्दी शुरू होने से अब गढ़वाल एक्सप्रेस को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है। उत्तर रेलवे की ओर से इस आशय के दिशा निर्देश रेलवे के अधीनस्थ अधिकारियों को मिले हैं। दोनों ट्रेनों का समय एक ही होने के कारण इसे बंद किया गया है।

गढ़वाल के रेल यात्रियों को कोरोना की मार अभी तक झेलनी पड़ रही है। कोरोना संक्रमण के दौरान 22 मार्च, 2020 से लगे लॉकडाउन के बाद से कोटद्वार-नजीबाबाद के बीच की रेल सेवाएं समेत दिल्ली तक चलने वाली मसूरी और गढ़वाल एक्सप्रेस को बंद कर दिया गया था।

तब से कोटद्वार रेलवे स्टेशन पर सिद्धबली जनशताब्दी के अलावा सभी पैसेंजर और एक्सप्रेस सेवाओं का संचालन बंद है, जिससे गढ़वाल के रेल यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना संक्रमण काल से पहले कोटद्वार और नजीबाबाद के बीच लोकल रूट पर चार पैसेंजर ट्रेन चला करती थीं।

राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी के प्रयास से 03 मार्च, 2021 से कोटद्वार-दिल्ली के बीच सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन तो शुरू हो गया, लेकिन अन्य सेवाएं अभी तक बंद हैं। जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन पूर्व में संचालित होने वाली गढ़वाल एक्सप्रेस के समय पर होने से अब उत्तर रेलवे की ओर से गढ़वाल एक्सप्रेस को हमेशा के लिए बंद करने का फरमान जारी कर दिया गया है। इसके पीछे की वजह दोनों का समय एक ही होना बताया गया है। कोटद्वार दिल्ली के बीच अब एक मात्र चेयरयान सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस 12037 और 12038 ही चलेगी।

उधर, दिल्ली और देहरादून के बीच नजीबाबाद होते हुए संचालित हो रही मसूरी एक्सप्रेस को पूर्व की भांति कोटद्वार से भी संचालित करने की मांग जोर पकड़ने लगी है। जिला उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के अध्यक्ष विवेक अग्रवाल, नगर अध्यक्ष महेंद्र सिंह बिष्ट, कोषाध्यक्ष संजय मित्तल समेत कई व्यापारी नेताओं और संगठनों से जुड़े पदाधिकारियों ने कोटद्वार से पूर्व की भांति मसूरी एक्सप्रेस का संचालन शुरू करने की मांग की।

वहीं नागरिक मंच के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश नैथानी, महामंत्री डबल सिंह रावत, पूर्व अध्यक्ष विनोद कुकरेती, समाज सेवी परमानंद बलोधी और शिवप्रकाश कुकरेती ने कहा कि गढ़वाल एक्सप्रेस के स्थान पर सिद्धबली जनशताब्दी का संचालन हो रहा है, लेकिन मसूरी एक्सप्रेस का अब भी कोई विकल्प नहीं है।

लोगों को मसूरी एक्सप्रेस पकड़ने के लिए देर शाम नजीबाबाद रेलवे स्टेशन की दौड़ लगानी पड़ रही है। अब रेलवे को कोटद्वार से नजीबाबाद के बीच पैसेंजर ट्रेन, हावड़ा एक्सप्रेस पर पूर्व की भांति एक कोच कोटद्वार से लगाने और मसूरी को कोटद्वार तक संचालित कर देना चाहिए।
वही मनोज रावत, स्टेशन अधीक्षक कोटद्वार का कहना है कि कोटद्वार-नजीबाबाद के बीच पूर्व में संचालित होने वाली गढ़वाल एक्सप्रेस को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है। रेलवे की ओर से अधीनस्थों को इस आशय के दिशा निर्देश मिले हैं। सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस को अच्छा रिस्पांस मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here